Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 5 अगस्त 2017

भारतीय छात्र और पूर्ण-अंक

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,

प्रणाम |


12वीं कक्षा का प्रश्न-पत्र


प्रश्न: प्यार क्या है? विस्तार से बताइये! (20 अंक)


उत्तर: अमरीकी विद्यार्थी - प्यार 'दर्द' को कहते हैं।

(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)


उत्तर: इंग्लैंड का विद्यार्थी - प्यार 'ज़िन्दगी' को कहते हैं।

(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)


उत्तर: UAE का विद्यार्थी - प्यार 'खुदा' को कहते हैं।

(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)


उत्तर: भारतीय विद्यार्थी - प्यार की परिभाषा:

'प्यार' के द्वारा एक महिला और पुरुष के मध्य, उपजे प्रेम-सम्बन्ध से दिल की गंभीर बीमारी हो जाती है। और अगर ये प्रेम परवान ना चढ़े तो दोनों में से किसी एक की मृत्यु भी हो जाती है।


प्यार के प्रकार :

1) एक तरफ़ा प्यार।

2) दो तरफ़ा प्यार।


आयु :

आमतौर पर यह 15 से 25 की उम्र के बीच होता है। लेकिन आजकल यह किसी भी उम्र में हो जाता है।


लक्षण:

1) अनिद्रा।

2) दिन में सपने देखना।

3) फेसबुक, व्हाटसएप के बिना एक-एक पल दूभर हो जाना।

4) फ़ोन की लत।


मूल कारण/मूल्यांकन:

1) फोन पे चेटींग,

2) तस्वीरों

और 3) मोबाईल द्वारा ज्यादा फैलता है।


इलाज :

1) पिता के जूते द्वारा एंटी लव चिकित्सा और

2) माँ की चप्पल की अंधाधुंध मार || परीक्षा परिणाम: (अंक 20/20 बहुत बढ़िया।)


नोट - भारतीय छात्रों से कुछ भी पूछो, 'पूर्ण-अंक' पाने के लिए वे किसी भी बात को बढ़ा-चढ़ा कर लिख सकते हैं।

सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

लघुत्तम अक्खड़ताः बुरा लगे तो मत पढ़ो

महिलाओं की "पोस्ट" पर न्यौछावर लोगों की मानसिकता

अंतरिक्ष का मौसम कैसा है, ठंडा या गरम?

दर्द ओ ग़म तो

'चोटी कटवा,' एक रहस्य कथा!

संवेदनाओं की आवाज़- बुरी लड़की

चोटी कटवा: खौफ़ की मौत तो जाहिल मरा करते हैं

श्रावण की पूनम

बच्चों का दोस्त बनना ठीक है ...पर उनके के माँ-बाप भी बने रहिये

पत्रकारिता में भी 'राष्ट्र सबसे पहले' जरूरी

सौंदर्यबोध...सर्वेश्वरदयाल सक्सेना

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

8 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति शिवम जी।

विकास नैनवाल ने कहा…

सुन्दर संकलन ....

Kavita Rawat ने कहा…

रोचक परिभाषा प्यार के बुखार की
बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

सुंदर लिनक्स का बुलेटिन .... मेरी पोस्ट को स्थान दिया आभार

शिवम् मिश्रा ने कहा…

अप सब का बहुत बहुत आभार |

Anita ने कहा…

देरी से आने के लिए खेद..रक्षा बंधन की ढेर सारी शुभकामनाएं...आभार !

बरुण सखाजी ने कहा…

आभारी हूं। आपने स्थान दिया।

Asha Joglekar ने कहा…

हिन्दुस्तानी तो हैं ही बडबोले ।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार