Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 27 सितंबर 2017

महान समाज सुधारक राजा राममोहन राय जी और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को मेरा सादर नमस्कार।
राजा राममोहन राय (अंग्रेज़ी: Raja Ram Mohan Roy, जन्म: 22 मई, 1772 - मृत्यु: 27 सितम्बर, 1833) को 'आधुनिक भारतीय समाज' का जन्मदाता कहा जाता है। वे ब्रह्म समाज के संस्थापक, भारतीय भाषायी प्रेस के प्रवर्तक, जनजागरण और सामाजिक सुधार आंदोलन के प्रणेता तथा बंगाल में नव-जागरण युग के पितामह थे। धार्मिक और सामाजिक विकास के क्षेत्र में राजा राममोहन राय का नाम सबसे अग्रणी है। राजा राम मोहन राय ने तत्कालीन भारतीय समाज की कट्टरता, रूढ़िवादिता एवं अंध विश्वासों को दूर करके उसे आधुनिक बनाने का प्रयास किया। पूरा पढ़ने के लिए क्लिक करें....


महान समाज सुधारक राजा राममोहन राय जी 184वीं पुण्यतिथि पर हम सब उन्हें शत शत नमन करते हैं। सादर।।


~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।  

7 टिप्पणियाँ:

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

संतुलित सूत्र चयन .......
झरोखा को मंच पर स्थान देने के लिये आभार आपका .....

sadhana vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर सार्थक सूत्रों का संकलन आज का बुलेटिन ! मेरी रचना, 'मैं गरीब हो गया' को आज के बुलेटिन में स्थान देने के लिए आपका ह्रदय से धन्यवाद एवं आभार हर्षवर्धन जी !

Arshia Arshia ने कहा…

साइंटिफिक वर्ल्‍ड को बुलेटिन में शामिल करने का आभार।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति।

Anita ने कहा…

महान समाज सुधारक राजा राममोहन राय जी को उनकी १८४ वीं पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि ! विविधरंगी सूत्रों से सजे बुलेटिन के लिए बधाई, आभार !

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

श्रद्धांजलि! इन महान समाज सुधारक को नमन!

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार